WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

Rajasthan Jatigat Survey 2023:राजस्थान में पहली बार होगा जातीगत सर्वे, जानिए कैसे होगा यह सर्वे

Rajasthan राज्य से पहले बिहार ही एक ऐसा राज्य है जिसमें पहली बार बिहार सरकार ने जातीय जनगणना की घोषणा की थी। बिहार ने कुछ समय पहले ही जातीय जनगणना के आंकड़े भी जारी किए है। जिसमें बिहार राज्य सरकार जातीगत आंकड़े प्रदर्शित किए हैं। जातिगत जनगणना से ये पता लगाना बहुत आसान हो जाता है कि कौनसी जाती में कितनी जनसंख्या है। उनका जातीगत लिंगानुपात क्या है? इसी से प्रेरित होकर Rajasthan राज्य के मुख्यमंत्री ahok गहलोत ने भी हाल ही में Rajasthan Jaatigat Janaganana 2023 की आधिकारिक घोषणा जारी की है।

Rajasthan Jatigat Survey 2023
Rajasthan Jatigat Survey 2023

जातिगत सर्वे में सूचनाएं ऑनलाइन इकट्ठा की जाएगी

Caste Survey के लिए जानकारियां और सूचनाएं online माध्यम से इकठ्ठा की जायेगी। सूचना प्रौद्योगिकी विभाग (DoIT) की ओर से जातिगत सर्वे के लिए एक खास Software और Caste Survey Mobile App भी लॉन्च किया जायेगा। जातिगत गणना की जानकारी को सम्बन्धित विभाग द्वारा अपने पास रखा जायेगा।

Rajasthan राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा Caste Survey कराने की घोषणा हाल ही 7 अक्टूबर को जारी की गई है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा शनिवार 7 अक्टूबर की देर रात को राजस्थान जातिगत सर्वे के संबंध में आधिकारिक आदेश जारी किए गए। वहीं CM गहलोत द्वारा शनिवार को दिन में एक प्रोग्राम के दौरान बिहार राज्य की तरह Jatigat Survey करवाने की बात सामने रखी थी। राज्य में आचार संहिता बस कुछ ही दिनों में लगने वाली है ऐसे में सरकार के इस फैसले को एक बड़ा दांव माना जा सकता है। Rajasthan Jatigat Survey 2023 के अंतर्गत विभाग द्वारा राज्य के नागरिकों की सामाजिक, आर्थिक और शैक्षिक स्तर के संबंध में जानकारी और सूचनाएं Online माध्यम से इकट्ठा की जायेगी।

सर्वे के दौरान सम्बन्धित इकट्ठा हुवे इन आंकड़ों का अध्ययन कर समाज के पिछड़ेपन का आकलन किया जायेगा। और उसी के आधार पर कल्याणकारी योजनाएं निकाली जायेगी। राज्य Sarkar ने बताया कि समाज की स्थिति के अनुसार पिछड़ेपन के लिए लाभकारी योजनाए निकाली जायेगी। जिसके माध्यम से पिछड़े वर्ग के नागरिकों के जीवन स्तर में काफी सुधार आएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा- सिर्फ सर्वे होगा, जनगणना केवल केंद्र सरकार के हाथ में..

Rajasthan के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि- हम केवल जातिगत सर्वे करवाएंगे और इसके आदेश भी तुरन्त जारी किए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा- सिर्फ सर्वे होगा, जनगणना केवल केंद्र सरकार के हाथ में है। क्योंकि जनगणना केवल केंद्र सरकार ही करवा सकती हैं ये कार्य राज्य सरकार का नहीं है। राज्य सरकार केवल जातिगत सर्वे करवाएगी ताकि यह पता लगा सके कि कौनसी जाती कितनी पिछड़ी हुई है और उन्हें किस क्षेत्र में सहायता की आवश्यकता है। यह पता लगाने के बाद राज्य में पिछड़ी हु जातियों को आगे लाना और उनके लिए सही विकास कार्य करना आसान हो जायेगा। जातिगत सर्वेक्षण कार्य के लिए नियोजन नोडल विभाग होगा। सर्वेक्षण के लिए कलेक्टर नगर पालिका, नगर परिषद, नगर निगम, पंचायत समिति और ग्राम पंचायत स्तर पर विभिन्न विभागों के कर्मचारियों की सहायता ली जा सकेगी। नोडल विभाग द्वारा Rajasthan Jatigat Survey 2023 से सम्बन्धित एक प्रश्नावली तैयार की जायेगी। जिसमें प्रत्येक व्यक्ति के राजस्थान सामाजिक, आर्थिक एवं शैक्षणिक स्तर से जुड़ी आवश्यकताओं की पूरी जानकारी शामिल होगी।

जातिगत सर्वे से नौकरियों एवं राजनीति में पिछड़े वर्ग की हिस्सेदारी बढ़ेगी

Rajasthan Caste Jati Survey से राजनीति और Jobs के अलावा और भी विभिन्न क्षेत्रो में पिछड़े वर्ग की जातियों की हिस्सेदारी बढेगी। पिछड़ी जातियों के लिए योजनाए बनाते समय इस पर विशेष ध्यान भी दिया जायेगा। राज्य में OBC वर्ग के लिए वर्तमान समय में आरक्षण 21 फीसदी है। लेकिन इसे और बढ़ाने की मांगे लगातार जारी है। राज्य सरकार द्वारा इस पर भी विचार किया जा सकता है।

Rajasthan राज्य में सन 1931 की Jatigat Janaganana के मे एकत्रित हुए डाटा के अनुसार Rajasthan Top 10 Caste में ब्राह्मण, राजपूत, जाट, मीणा, माली, गुर्जर और कुम्हार सबसे ऊपर थे। राजपूताना एजेंसी और अजमेर-मेरवाड़ा दोनों में 8.81 लाख ब्राह्मण, 6.60 लाख राजपूत, 10.72 लाख जाट, 6.64 लाख भील, 6.42 लाख मीणा, 5.61 लाख गुर्जर, 3.83 लाख माली, 3.73 लाख कुम्हार एवं 7.82 लाख चर्मकार जाती की जनसंख्या थी।

राजस्थान जातिगत सर्वे कब शुरू होगा?

राज्य में जातिगत सर्वे कब तक शुरू होगा फ़िलहाल इसके बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता है। क्योंकि अभी इसके लिए विभाग को बहुत सी तैयारियां करनी होगी। ये सर्वे ऑनलाइन माध्यम से किया जायेगा। इसके लिए विशेष software और मोबाइल App की लॉन्चिंग भी की जायेगी। जिसमें अभी काफी समय लगेगा।

राजस्थान में जातिगत सर्वे की घोषणा कब की गई?

राज्य में पहली बार जातीगत सर्वे की घोषणा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा शनिवार 7 अक्टूबर 2023 को एक कार्यक्रम के दौरान की गई।

Join Us On Social Media

Join TelegramJoin WhatsApp
Join InstagramJoin Facebook
Join Google NewsJoin Pinterest
WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

Leave a comment